Jharkhand: रेलवे साइट पर नक्सलियों ने मजदूरों को पीटा, दो इंजीनियरों का अपहरण किया, पुलिस पर भी फायरिंग

Jharkhand: रेलवे साइट पर नक्सलियों ने मजदूरों को पीटा, दो इंजीनियरों का अपहरण किया, पुलिस पर भी फायरिंग

सुकमा नक्सली हमला
– फोटो : ANI (File)

ख़बर सुनें

झारखंड के पतरातू से सोननगर थर्ड लाइन रेलवे का निर्माण आरबीएनएल (रिलायंस ब्रॉडकास्ट लिमिटेड) कंपनी कर रही है। मंगलवार की शाम करीब साढ़े चार बजे कंपनी की कटपुलिया साइट पर नक्सलियों ने हमला कर दिया। हमला शाम सात बजे तक जारी रहा। घटना टोरी व चेटर स्टेशन के बीच डगडगी पुल के  पास हुई है। नक्सलियों ने दो दर्ज से ज्यादा मजदूरों और कर्मचारियों को पीटा। वहीं, खबर मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, लेकिन तब तक अंधेरा हो चुका था। फिर, नक्सलियों ने पुलिस पर ही पचास राउंड फायरिंग की।

रात के करीब नौत बजे नक्सलियों घटनास्थल से करीब एक किमी दूर दो इंजीनियर्स को छोड़ दिया। नक्सलियों ने पहले दस गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। इनमें दो रिंग मशीन, एक जेसीबी, एक हाइड्रा, एक ट्रैक्टर, तीन बाइक शामिल हैं। नक्सलियों ने जेनरेटर को भी आग लगाई।

वहीं, इस बीच हमले की जिम्मेदारी रविंद्र गंझू के दस्ते ने ली है। सूत्रों के मुताबिक, घटना से कंपनी प्रबंधन को पंद्रह करोड़ से जायादा का नुकसान हुआ है। एसडीपीओ संतोष मिश्रा ने घटना की पुष्टि की।

नक्सली हमले के पीड़ित मजदूरों ने बताया कि इस दौरान तीस मजदूर रेल लाइन निर्माण के कार्य में लगे हुए थे। तभी करीब चासील नक्सली पहुंचे और उन्होंने दो इंजीनियरों को अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद पांच-छह नक्सली उन्हें अपने साथ ले गए। फिर उन्होंने मजदूरों और कर्मचारियों को इकट्ठा हो कर पीटना शुरू कर दिया। वे बिना अनुमति काम शुरू करने पर जान से मारने की धमकी दे रहे थे।

उन्होंने बताया कि माओवादियों ने मजदूरों से ही गाड़ी से तेल निकलवाया और वाहनों में आग लगा दी। पर्चा भी छोड़ा। इसमें लिखा है कि इसके बाद भी कंपनी काम जारी रखती है, तो जानमाल की क्षति के खुद जिम्मेदार होंगे।

विस्तार

झारखंड के पतरातू से सोननगर थर्ड लाइन रेलवे का निर्माण आरबीएनएल (रिलायंस ब्रॉडकास्ट लिमिटेड) कंपनी कर रही है। मंगलवार की शाम करीब साढ़े चार बजे कंपनी की कटपुलिया साइट पर नक्सलियों ने हमला कर दिया। हमला शाम सात बजे तक जारी रहा। घटना टोरी व चेटर स्टेशन के बीच डगडगी पुल के  पास हुई है। नक्सलियों ने दो दर्ज से ज्यादा मजदूरों और कर्मचारियों को पीटा। वहीं, खबर मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, लेकिन तब तक अंधेरा हो चुका था। फिर, नक्सलियों ने पुलिस पर ही पचास राउंड फायरिंग की।

रात के करीब नौत बजे नक्सलियों घटनास्थल से करीब एक किमी दूर दो इंजीनियर्स को छोड़ दिया। नक्सलियों ने पहले दस गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। इनमें दो रिंग मशीन, एक जेसीबी, एक हाइड्रा, एक ट्रैक्टर, तीन बाइक शामिल हैं। नक्सलियों ने जेनरेटर को भी आग लगाई।

वहीं, इस बीच हमले की जिम्मेदारी रविंद्र गंझू के दस्ते ने ली है। सूत्रों के मुताबिक, घटना से कंपनी प्रबंधन को पंद्रह करोड़ से जायादा का नुकसान हुआ है। एसडीपीओ संतोष मिश्रा ने घटना की पुष्टि की।

नक्सली हमले के पीड़ित मजदूरों ने बताया कि इस दौरान तीस मजदूर रेल लाइन निर्माण के कार्य में लगे हुए थे। तभी करीब चासील नक्सली पहुंचे और उन्होंने दो इंजीनियरों को अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद पांच-छह नक्सली उन्हें अपने साथ ले गए। फिर उन्होंने मजदूरों और कर्मचारियों को इकट्ठा हो कर पीटना शुरू कर दिया। वे बिना अनुमति काम शुरू करने पर जान से मारने की धमकी दे रहे थे।

उन्होंने बताया कि माओवादियों ने मजदूरों से ही गाड़ी से तेल निकलवाया और वाहनों में आग लगा दी। पर्चा भी छोड़ा। इसमें लिखा है कि इसके बाद भी कंपनी काम जारी रखती है, तो जानमाल की क्षति के खुद जिम्मेदार होंगे।



#Jharkhand #रलव #सइट #पर #नकसलय #न #मजदर #क #पट #द #इजनयर #क #अपहरण #कय #पलस #पर #भ #फयरग

Yash Studio Keep Listening

yash studio

Connect With Us

Watch New Movies And Songs

shiva music

Read Hindi eBooks

ebook-shiva

Amar Bangla Potrika

Amar-Bangla-Patrika

Your Search for Property ends here

suneja realtors

Get Our App On Your Phone

X